Haasya / हास्य लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Haasya / हास्य लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, जून 13, 2016

सत्यनारायण भगवान और मैं :-)


एक बार सत्यनारायण कथा की आरती का थाल मेरे सामने आने पर मैंने छाँट कर जेब में से कटा-फटा पाँच रुपये का नोट निकाला और कोई देखे नहीं, इस तरह आरती-थाल में डाला दिया। 
वहाँ अत्यधिक ठसाठस भीड़ थी। 
मेरे कंधे पर ठीक पीछे वाले सज्जन ने थपकी मार कर मेरी ओर 500 रुपये का नोट बढ़ाया। मैंने उनसे नोट ले कर आरती में डाल दिया। 
मुझे अपने मात्र 5 रुपये डालने पर थोड़ी लज्जा भी आई। 
बाहर निकलते समय मैंने उन सज्जन को श्रद्धा पूर्वक नमस्कार किया तब वो बोले - 

"बेटा .. जब तुम अपनी जेब से 5 रू का नोट निकाल रहे थे तो तुम्हारी जेब से 500 रु का नोट गिर गया था, जो कि उन्होंने मुझे वापस दिया था।" 
बोलो सत्यनारायण भगवान की जय ! 
.
:-) :-) :-)


 =================================================
फेसबुक लिंक 
=================================================

रविवार, जून 12, 2016

बीवी और गुमशुदा कार



मीटिंग के बाद एक युवती होटल से बाहर आई। उसने अपनी कार की चाभियाँ तलाशीं लेकिन उसे नहीं मिली। वापस मीटिंग रूम में जाकर देखा, वहाँ भी नहीं थीं। 
-- 
अचानक उसे लगा कि, चाभियाँ शायद वो कार के इग्नीशन में ही लगी छोड़ आई थी। उसके पति बहुत बार उसकी इस आदत के लिए डाँट चुके थे। 
-- 
खैर, 
जब युवती पार्किंग में पहुँची तो उसे समझ आया कि उसके पति सही टोकते थे। पार्किंग खाली थी, कार चोरी हो चुकी थी। 
-- 
युवती ने तुरंत पुलिस को कॉल किया, अपनी लोकेशन और पार्किंग एड्रेस बताया और कार चोरी की पूरी जानकारी दी। 
-- 
फिर युवती ने अपने पति को डरते-डरते काल लगाईं और बोली---" डार्लिंग ( ऐंसे समय वो उन्हें डार्लिंग कहकर ही बुलाती थी) मैं अपनी कार की चाबियाँ इग्नीशन में भूल गई और हमारी कार चोरी हो गई।" 

फोन पर थोड़ी देर शान्ति रही। उसे लगा उसके पति गुस्से में फोन काट देंगे। लेकिन फिर पति की गुस्से में चिल्लाने की आवाज आई-- "बेवकूफ, मैं खुद तुम्हे मीटिंग अटेंड करने के लिए होटल छोड़कर आया था !" 

अब शांत रहने की बारी युवती की थी। वो खुश हो गई थी कि, चलो कार चोरी तो नहीं हुई। फिर उसने कहा --- 
"ओके, तो फिर प्लीज, मुझे लेने के लिए आ जाओ।" 
-- 
पति फिर चिल्लाए-- 
"नानसेंस ... मैं तुम्हें लेने के लिए आ जाऊँगा, लेकिन पहले इस पुलिस वाले को तो बताओ कि मैंने तुम्हारी कार नहीं चुराई है, जिसने मुझे पकड़ रखा है...." 
.
.
.
:-) :-) :-)

================================================= 
फेसबुक लिंक
==================================================

गुरुवार, जून 09, 2016

वेटिकन सिटी में धंदा


वेटिकन सिटी में दो भिखारी बैठे थे ... 
एक के हाथ में ॐ था और दुसरे के हाथ में जीसस का क्रॉस ! 
--- 
लोग वहां से निकलते और सब ॐ वाले भिखारी को गुस्से से देख के क्रॉस पकड़े हुए भिखारी को पैसे दे कर जा रहे थे ! 
--- 
थोड़ी देर के बाद वहां से क्रिस्चियन के धर्मगुरु पॉप निकले ,,, उन्होंने ये देखकर ॐ वाले भिखारी को बोला - 

"भाई ये क्रिस्चियन लोगों का देश है .. यहाँ कोई तुम हिन्दू को भीख नहीं देगा ... सच तो ये है कि लोग यहाँ तुम्हे चिढाने के लिए क्रॉस वाले भिखारी को ज्यादा पैसा दे देते हैं .... 
--- 
--- 
ॐ वाले भिखारी ने क्रॉस वाले भिखारी को देखा और बोला - 

"जिग्नेस भाई ~~" 

"बोलो मनसुख भाई ~~" 

"अब ये हमें सिखाएगा धंदा करना ?????"
.
.
.
:-)  :-) :-)  

=================================================
फेसबुक लिंक 
=================================================

शुक्रवार, सितंबर 25, 2015

कैसे-कैसे दिलचस्प साइनबोर्ड :-)


क्या कहा ~~~
नाम में क्या रखा है ?? 
अरे नहीं जनाब 
नाम में ही तो बहुत कुछ रखा है 
.
न यकीन हो तो देखिये -

 अरे ~~~ फेसबुक तो फ़ास्ट फ़ूड भी बेचता है
===================================================
 इन्फोसिस का नया धांसू बिजनेस
==================================================
 डंके की चोट पे धंधा
====================================================
 क्या सीखा … घंटा ???
=================================================
 गूगल सब्जी भी बेचता है … अपनी आँखों से देख लो
==================================================
 ये डॉक्टर का नहीं भाई, रेस्टोरेंट का साइनबोर्ड है
====================================================
 हाई-फाई चिकन ले लो
====================================================
 नाम में इमानदारी हो तो ऐसी हो
==================================================
इतना कठिन विषय है कि 
अलग से इंस्टिट्यूट खोलना पड़ा
===================================================

इंजीनियर की समस्या और जाट बुद्धि


तीन-चार इंजीनियर एक टेढ़े मेढ़े पाइप में से तार डालने कि कोशिश कर रहे थे, 
लेकिन कामयाब नहीं हो पा रहे थे ! एक जाट कई दिन से ये सब देख रहा था 
-- 
-- 
पांचवें दिन जाट बोला :-  मै करू साब ?? 
-- 
इंजीनियर ने घूरा और बोला :-  हम पांच दिन से कोशिश कर रहे हैं, हमसे तो हुआ नहीं, 
तू कैसे निकालेगा ? ..... चल तू भी कोशिश कर ले...... 
--- 
जाट बोला :-  ठीक है साब 
-- 
-- 
जाट खेत मे गया ,,, एक चूहा पकड़ लाया और उसकी पूँछ मे तार बान्धा ,,, फिर चूहे को 
पाईप मे डाला ...... कुछ देर बाद चूहा दुसरी तरफ से तार के साथ बाहर निकल गया ! 


इंजीनियर अब तक कोमा में है
.
.
.
:-) :-) :-) 
.
.
==================================================
फेसबुक लिंक 
https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/1069124533097844
==================================================

मंगलवार, मार्च 24, 2015

छोटे तिवारी और बोर्ड की परीक्षा :-)


[आजकल बोर्ड परीक्षा में नक़ल होने की बहुत चर्चा हो रही है ... 
 लीजिये पेश है हमारे दौर की एक सच्ची घटना] 
--------------------------------------------------------------
.
कसबे में चारों तिवारी भाइयों ने दबंगई और मार-पीट में अभूतपूर्व ख्याति अर्जित की हुई थी ! कौन से नंबर का भाई ज्यादा खुराफाती है, ये शोध का विषय था ! 
-- 
इस साल सबसे छोटे तिवारी का मूड हो आया कि बोर्ड का परीक्षा क्लियर करना है, बस तब क्या था ,,, बडकऊ तिवारी अगले रोज ही प्रधानाचार्य के कमरे में धमक पड़े - "गुरु जी इस साल छोटे को पास कराने की जिम्मेदारी आपकी है" 
-- 
प्रधानाचार्य बेचारे क्या करते ... वृन्दावन में रहना है तो राधे-राधे कहना है ... तत्काल चौबे और अस्थाना अध्यापक को बुलाया और समझा दिया - "कुछ करिए आप लोग" 
--- 
अगले रोज पुलिस कर्मियों की सुरक्षा में बोर्ड की परीक्षा शुरू हुई ! पहला परचा हिंदी का था ... कक्ष में सारे छात्रों को प्रश्न-पत्र और कापियां वितरित कर दी गयीं .. छोटे तिवारी को जान-बूझकर सबसे पीछे कोने में बैठाया गया ! 
--- 
दस-पंद्रह मिनट हुए थे कि चौबे जी एक कुंजी (उत्तर पुस्तिका) लेकर छोटे तिवारी के पास गए और बोले - "लो इसे रख लो और लिखना शुरू करो" 
--- 
जरा देर बाद चौबे जी दोबारा पलटे ... तो देखा छोटे तिवारी घूर रहे हैं ! चौबे जी हडबडा गए, पूछा - "क्या हुआ ,,, इससे देखकर जवाब लिखते क्यूँ नहीं ?" 

छोटे तिवारी जोर से भुनभुनाए - "गुरूजी हमका आल्हा न सिखाओ ,,, चुप्पै ई बताओ कुंजी में कौन से पन्ने का क्या-क्या लिखना है ... पेन से निशान लगा के बतावौ ...." 
.
:-) :-) :-)
------------------------------------------------------------------------------------------


विशेष : आगे चलकर छोटे तिवारी दो बार विधायकी का चुनाव जीते !


============
The End
============
---------------------------------------------------------------------------------------
फेसबुक लिंक 
https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/971522866191345
---------------------------------------------------------------------------------------

मंगलवार, जनवरी 06, 2015

आई सी यू में अलौकिक शक्ति का रहस्य :-)

एक हॉस्पिटल के आई सी यू में 
हर रविवार 
एक ही बिस्तर पे ठीक 11 बजे 
एक मौत हो रही थी 
--- 
हर रविवार उसी बेड पर 
ठीक उसी समय हो रही मौत 
डॉक्टरों की समझ से परे थी, 
--- 
अंत में डॉक्टर ये मानने को मजबूर हो गए कि 
ज़रूर ये किसी अलौकिक शक्ति की वजह से हो रहा है 
--- 
--- 
मौत के कारण का पता लगाने के लिए 
विश्वस्तरीय डॉक्टरों की एक टीम गठित की गई , 
--- 
टीम को अगले रविवार का बेसब्री से इंतज़ार था 
--- 
--- 
अगले रविवार सुबह 11 बजे से 
कुछ मिनट पहले ही सारे डॉक्टर और नर्स 
बेड के चारों ओर खड़े हो गए, 
--- 
सब मौत का कारण जानने के लिए अत्यंत उत्सुक थे -
-- 
--- 
11 बजने ही वाले थे कि 
.


 
तभी 
अचानक पार्ट टाइम स्वीपर 
I.C.U. में दाखिल होती है , 
और उस बेड के 
 लाइफ सपोर्ट सिस्टम का प्लग हटाकर 
अपना मोबाइल चार्ज पे लगा देती है 




:-) :-) :-) 
------------------------------------------------ 
The End 
------------------------------------------------
========================================================== 
फेसबुक लिंक
==========================================================

गजोधर को मिला जादुई चिराग :-)

एक बार गजोधर को एक चिराग मिला। 
-- 
उसे ज़मीन पे घिसा तो एक जिन्न प्रकट हो गया 
और बोला :- आप मेरे आका हो, आपकी तीन wishes मैं पूरी करूँगा । 
--- 
--- 
गजोधर ने कुछ पल सोचा और बोला :- 

"पहली wish तो यह है कि दारू की एक ऐसी बोतल दो जिसमें दारू कभी खत्म न हो । 
--- 
जिन्न :- जो हुक्म मेरे आका ... और एक बोतल दे देता है । 
--- 
गजोधर को यकीन नहीं हुआ, वो चेक करने के लिए पीना शूरू करता है 
 और जैसे ही वो आखिरी पैग बनाता है बोतल फिर पूरी भर जाती है। 
--- 
जिन्न :- मेरा आका आप दो और wishes मांग सकते हो 
 --- 
गजोधर :- तू ऐसा कर जिन्न भाई...... ऐसी ही दो बोतलें और दे दे !!! 




:-) :-) :-)
---------------------------------------------------- 
The End 
----------------------------------------------------
==================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/921999997810299 =====================================================

रविवार, दिसंबर 28, 2014

लेडीज को सीट ऑफर :-)

एक साहब सुबह-सुबह ऑफिस जाने के लिए बस में चढ़े तो 
कंडक्टर ने मुस्कुराते हुए पूछा :– 

“कल रात ठीक-ठाक घर पहुँच गए थे सर ?” 
--- 
साहब: – “क्यों ? कल रात को मुझे क्या हुआ था ?” 
--- 
कंडक्टर – “टुन्न थे आप !” 
--- 
साहब (गुस्से से) :– “ये तुम कैसे कह सकते हो ? मैंने तो तुमसे बात तक नहीं की थी ?” 
--- 
कंडक्टर: – “ऐसा है सर जी, कल जब आप बस में बैठे हुए थे तो एक मैडम बस में चढीं थी और आपने उठकर उन्हें सीट ऑफर की थी !” 
--- 
साहब: – “तो ? लेडीज को सीट ऑफर करना गुनाह है क्या ???” 
--- 
--- 
कंडक्टर :– “गुनाह तो नहीं है सर, पर उस समय बस में केवल आप दो ही पैसेंजर थे !!!” 

:-)  :-)  :-)
-------------------------------------------------- 
The End 
--------------------------------------------------
==================================================== 
फेसबुक लिंक 
====================================================

शनिवार, दिसंबर 27, 2014

कर्मचारी की शिकायत और मैनेजर का केलकुलेशन

दो वर्ष तक नौकरी करने के बाद एक व्यक्ति को समझ में आया कि इन दो सालों में न कोई प्रमोशन, ना ट्रांसफ़र, ना कोई तनख्वाह वृद्धि, और कम्पनी इस बारे में कुछ नहीं कर रही है.. 
--- 
--- 
उसने फ़ैसला किया कि वह HR मैनेजर से मिलेगा और अपनी बात रखेगा... लंच टाईम में वह HR मैनेजर से मिला और उसने अपनी समस्या रखी.. 
--- 
HR मैनेजर बोला, मेरे बच्चे तुमने इस कम्पनी में एक दिन भी काम नहीं किया है... 

कर्मचारी भौंचक्का हो गया और बोला - ऐसा कैसे.. ? पिछले दो वर्ष से मैं यहाँ काम कर रहा हूँ.. 

HR मैनेजर बोला - देखो मैं समझाता हूँ... एक साल में कितने दिन होते हैं ? 

कर्मचारी - 365 या 366 

मैनेजर - एक दिन में कितने घंटे होते हैं ? 

कर्मचारी - 24 घंटे 

मैनेजर - तुम दिन में कितने घंटे काम करते हो ? 

कर्मचारी - सुबह 8.00 से शाम 4.00 तक, मतलब आठ घंटे.. 

मैनेजर - मतलब दिन का कितना भाग तुम काम करते हो ? 

कर्मचारी - (हिसाब लगाता है) 24/8= 3 एक तिहाई भाग 

मैनेजर - बहुत बढिया..अब साल भर के 366 दिनों का एक-तिहाई कितना होता है ? 

कर्मचारी - (???) 366/3 = 122 दिन.. 

मैनेजर - तुम "वीक-एण्ड" पर काम करते हो ? 

कर्मचारी - नहीं 

मैनेजर - साल भर में कितने वीक-एण्ड के दिन होते हैं ? 

कर्मचारी - 52 शनिवार और 52 रविवार, कुल 104 

मैनेजर - बढिया, अब 122 में से 104 गये तो कितने बचे ? 

कर्मचारी - 18 दिन 

मैनेजर - एक साल में दो सप्ताह की"सिक लीव" मैं तुम्हें देता हूँ, ठीक ? 

कर्मचारी - जी 

मैनेजर - 18 में से 14 गये, तो बचे 4 दिन, ठीक ? 

कर्मचारी - जी 

मैनेजर - क्या तुम मई दिवस पर काम करते हो ? 

कर्मचारी - नहीं.. 

मैनेजर - क्या तुम 15 अगस्त,26 जनवरी और 2 अक्टूबर को काम करते हो ? 

कर्मचारी - नहीं.. 

मैनेजर - जब तुमने एक दिन भी काम नहीं किया, फ़िर किस बात की शिकायत कर रहे हो भाई. 

:-)  :-)  :-)
-------------------------------------------------------------------
The End
---------------------
========================================================= 
फेसबुक लिंक 
https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/914016395275326 =========================================================

शुक्रवार, दिसंबर 26, 2014

तीन बेचारे :-)

एक सुबह डॉक्टर के क्लीनिक में एक मरीज बहुत तेज पीठ दर्द की शिकायत लेकर आया। 
--- 
डॉक्टर ने पड़ताल करके उससे पूछा: तुम्हारी पीठ को हो क्या गया है ? 
--- 
मरीज :- सर मैं एक नाइट क्लब में काम करता हूं। आज सुबह जब मैं अपने अपार्टमेंट में लौटा तो मुझे कमरे में कुछ आवाजें सुनाईं दीं। जब मैं कमरे में घुस रहा था तो मुझे पता था कि मेरी पत्नी के साथ कोई था। क्योंकि बालकनी का दरवाजा खुला हुआ था। मैं बालकनी की ओर दौड़ा पर वहां कोई था नहीं। जब मैंने बालकनी से नीचे देखा तो एक आदमी कपड़े पहनते हुए दौड़ रहा था। मैं बहुत गुस्से में था तो मैंने फ्रिज उठाकर उसे फेंक के दे मारा। फ्रिज बहुत ही ज्यादा भारी था तो मेरी पीठ टेड़ी हो गई। 
--- 
--- 
थोड़ी देर बाद एक और मरीज आया और उसकी हालत पहले मरीज से भी ज्यादा खराब थी। 
--- 
डॉक्टर :- तुम्हारी हालत बहुत ही टूटी फूटी है। क्या हो गया तुम्हें ? 
--- 
मरीज:- आप नहीं जानते लेकिन मैं कुछ दिनों से बेरोजगार था। आज मेरी नौकरी का पहला दिन था। सुबह मेरी घड़ी का अलार्म भी नहीं बजा। मैं ऑफिस के लिए बहुत लेट हो गया तो मैं अपने बिल्डिंग के नीचे दौड़ते हुए ऑफिस जा रहा था और साथ-साथ तैयार भी होता जा रहा था..और आपको यकीन नहीं होगा पता नहीं कहां से मेरे ऊपर फ्रिज आ गिरा। मुझे नहीं पता कहां से और क्यों। लेकिन मेरी पीठ जरूर टूट गई। 
--- 
--- 
कुछ ही देर बाद डॉक्टर के यहां एक और मरीज आया जो बिल्कुल ही मरने की हालत में लग रहा था। 
--- 
डॉक्टर ने कहा क्या हो गया तुम्हें ? 
--- 
मरीज :- मैं फ्रिज में था। 

:-)  :-)  :-) 
--------------------------------------------------------------------
The End
--------------------------------------------------------------------
=================================================== 
फेसबुक लिंक 
https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/907271422616490 ===================================================

चालाक महिला का कार एक्सीडेंट :-)

एक बार एक आदमी बड़ी आराम से अपनी गाड़ी में जा रहा था कि अचानक सामने से आ रही एक महिला की गाड़ी आ कर उसकी गाड़ी से टकरा गयी, पर एक्सिडेंट के बाद दोनों सुरक्षित बच गए। 
--- 
जब दोनों गाड़ी से बाहर आये तो महिला ने पहले अपनी गाड़ी को देखा जो पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी थी, फिर वो सामने की तरफ गयी जहाँ आदमी भी अपनी गाड़ी को बड़ी गौर से देख रहा था। 
--- 
तभी वह महिला उससे रूबरू होते हुए बोली, "देखिये कैसा संयोग है कि गाड़ियाँ पूरी तरह से टूट-फूट गयी पर हमें चोट तक नहीं आई। यह सब भगवान की मर्जी से हुआ है ताकि हम दोनों मिल सकें। मुझे लगता है कि अब हमें आपस में दोस्ती कर लेनी चाहिए।" 
--- 
आदमी ने भी सोचा कि इतना नुक्सान होने के बाद भी गुस्सा करने के बजाय दोस्ती के लिए कह रही है तो कर लेता हूँ और बोला, "आप बिल्कुल ठीक कह रही हैं कि ये सब भगवान की मर्जी से हुआ है।" 
--- 
तभी महिला ने कहा, "एक चमत्कार और देखिये कि पूरी गाड़ी टूट-फूट गयी पर अंदर रखी शराब की बोतल बिल्कुल सही है।" 
--- 
आदमी ने कहा, "वाकई यह तो हैरान करने वाली बात है।" 
--- 
महिला ने बोतल खोली और बोली, "आज हमारी जान बची है, हमारी दोस्ती हुई है तो क्यों न थोड़ी सी ख़ुशी मनाई जाए।" 
--- 
महिला ने बोतल को उस आदमी की तरफ बढ़ाया उसने भी बोतल को पकड़ा और मुहं से लगाया और आधी करके बोतल वापस महिला को दे दी। 
--- 
फिर कहने लगा, "आप भी लीजिये।" 
--- 
महिला ने बोतल को पकड़ा उसका ढक्कन बंद किया और एक तरफ रख दी। 
--- 
आदमी ने पूछा, "क्या आप शराब नहीं पियेंगी?" 
--- 
महिला बड़े आराम से बोली, "नहीं ...मुझे लगता है मुझे पुलिस का इंतज़ार करना चाहिए ताकि मैं बता सकूँ कि इस शराबी ने मेरी गाडी ठोक दी है।" 

:-)  :-)  :-)
-------------------------------------------------------
The End
-------------------------------------------------------
==================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/901934043150228 =====================================================

कंजूस पति की इच्छा :-)

एक आदमी था। जिसने अपनी सारी ज़िन्दगी बहुत पैसा कमाया। पैसा होने के बावजूद भी वो बहुत कंजूस था। उसे अपनी ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा प्यार अपने पैसे से था। यहाँ तक कि उसने अपनी पत्नी से भी यह वायदा लिया था की जब वो मर जायेगा तो उसका सारा पैसा उसके साथ उसकी कब्र में दफना देना। 
--- 
---
उसकी पत्नी ने भी उससे वायदा कर दिया कि जब वो मरेगा तो वो ऐसा ही करेगी। 
--- 
कुछ दिनों बाद आदमी की मौत हो गयी। आदमी को ताबूत में लिटाया गया और जब सब लोग उस ताबूत को दफ़नाने लगे तो पत्नी ने उनको रुकने को कहा। 
--- 
सब रुक गए तभी उस आदमी की पत्नी एक डिब्बा लेकर आई और उसे ताबूत में रख दिया। सब लोग यह देख कर हैरान थे कि वो ऐसा क्यों कर रही है। पति तो अब मर चुका है तो अब सारा पैसा पत्नी का ही है फिर भी वो डिब्बा ताबूत में रखना चाहती है। 
--- 
पत्नी ने सब की बात सुनी और बोली, "मैं अपने पति की हर इच्छा पूरी करुँगी। मैंने उनसे वायदा किया था कि मैं उनके सारे पैसे उनके साथ ही ताबूत में छोड़ दूंगी।" 
--- 
किसी ने उससे पूछा, "इसका मतलब तुमने सारे पैसे एक साथ इसमें रख दिए?" 
--- 
पत्नी ने जवाब दिया, "हाँ बिल्कुल, मैंने उसके सारे पैसे अपने खाते में जमा करवा दिए हैं और अपने पति के नाम का चेक लिख दिया है जो कि इस डिब्बे में है!" 

:-)  :-)  :-)
----------------------------------------------------------- 
The End 
----------------------------------------------------------
==================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/901520096524956 =====================================================

गुरुवार, दिसंबर 25, 2014

स्त्री और पुरुष - दोनों में अंतर :-)

एक लड़की किसी विवाह समारोह में जाने से पहले 
================================== 

फेस वाश 

फेस स्टिक 

कन्सीलर 

आई शैडो 

मसकारा 

आई लाइनर 

लिपिस्टिक 

लिपग्लॉस 

लिप पेन्सिल 

फेस क्रीम 

फेस पाउडर 

ब्लश ऑन 

काजल 

नेल पॉलिस 

बॉडी स्प्रे 

परफ्यूम 

और 
साथ में हील 

और 
बहुत मुश्किल से सेलेक्ट किया हुआ 
 ड्रेस पहनने के बाद अपनी फ्रेंड्ज से कहेगी -  
.
"अरे यार जल्दी-जल्दी में कुछ किया ही नहीं .…… " 

&

जबकि लड़के विवाह समारोह में जाने से पहले अपने दोस्त से फोन पर :- 
"ओए नहाना है कि नहीं ????" 
.
 दोस्त का जवाब - "पागल हुआ है ?? अपनी शादी थोड़ी न है,,, जल्दी पहुँच" 

 :-) :-) :-) 
---------------------------------------- 
The End 
----------------------------------------
 =========================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/896374277039538 ===========================================================

जब गजोधर ने फंक्शन आर्गेनाइज किया

गजोधर ने एक फंक्शन आर्गेनाइज किया
 ---
उसने देखा कि इन्विटेशन से कहीं ज्यादा लोग आये हुए हैं
 ---
गजोधर स्टेज पर गया और बोला -
"जो-जो लोग लड़की वालों की तरफ से हैं वो प्लीज इधर एक साइड में आ जाएँ ."
---
---.
10-15 लोग आ गए एक तरफ
---
---
फिर गजोधर ने कहा - 
"जो-जो लोग लड़के वालों की तरफ से हैं वो प्लीज उधर एक साइड में आ जाएँ ."
---
---
10-15 लोग फिर आ गए दूसरी तरफ 
---
---
---
अब गजोधर ने एक डंडा उठाया और लड़के व लड़की वालों को खदेड़ते हुए बोला -
"अबे कमीनों ~~~ ये शर्मा जी की रिटायरमेंट पार्टी है .... "

:-)  :-)  :-)
-------------------------------------------------------------------
The End
-------------------------------------------------------------------
==================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/894834130526886 =====================================================

मंगेतर की पहली चिठ्ठी :-)

एक सुन्दर युवती एक दवाईयों की दुकान के सामने काफी देर तक खडी थी 
और भीड़ छटने का इंतज़ार कर रही थी।
---
दुकान का मालिक उसे शक की नजर से घूर रहा था।
---
बहुत देर बाद जब दुकान मे कोई ग्राहक नही बचा, तो वह लड़की दुकान मे आयी।
 ---
एक सेल्समन को धीरे से एक किनारे बुलाया।
---
दुकान मालिक अब और भी ज्यादा चौकन्ना हो गया।
---
लड़की ने धीरे से एक कागज़ सेल्समन की ओर बढाया।
---
धीरे से फुसफुसायी, "भैया, - - - मेरी एक डॉक्टर के साथ शादी तय हो गयी है।
-
-
-
-
आज "उनकी" पहली चिठ्ठी आयी है।
-
-
-
थोडा पढ़कर सुनायेंगे क्या ?

:-)  :-)  :-)
-------------------------------------------------------------
The End
------------------------------------------------------------- 
================================================== 
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/892270084116624 ==================================================

टीवी पर ज्योतिष समाधान कार्यक्रम :-)

ट्रिंग-ट्रिंग.. ट्रिंग-ट्रिंग 
--- 
होस्ट :- हेल्लो ..जी.. आप आचार्य से अपना सवाल पूछें.. 
--- 
दर्शक :- आचार्य जी मैं सरजू प्रजापति बोल रहा हूँ,,, माया बाज़ार गोरखपुर से.. जी मेरी एक बेटी है .. रंग गोरा है, चेहरा गोल,, लम्बाई औसत है.. 
--- 
आचार्य :- बिटिया की जन्मतिथि बतावें.. 
--- 
दर्शक :- जी गुरूजी,, बिटिया सत्रह साल की है,, जन्म 1997 का है पक्का ... पढने में कमजोर है .. पिरिया नाम है.. 
--- 
आचार्य :- हम्म्म 'गुरु ग्रह' कमजोर है ,,, माह तिथि बताइए बच्ची की. 
--- 
दर्शक :- मार्च है मार्च,,, होली के पहले,,, यहीं घर पे नार्मल डिलीवरी से हुयी थी .. बड़ी भोली है जल्दी ही बहक जाती है ... माँ का नाम सुखनी है.. 
--- 
आचार्य :- ग्रहों की वक्री गति से ऐसा होता है ..जन्म तिथि बताइये.. 
--- 
दर्शक :- कल रात को मोबाईल छोड़कर ,,, गहने रूपये समेटकर किसी मरदूद के साथ भाग गयी.. किसी ने कुछ कर करा दिया है गुरूजी... 
--- 
आचार्य :- आप धैर्य रखिये उपाय किया जायेगा ,,, बिटिया घर वापस आ जाएगी .. आप जन्म तिथि और समय बताइए जरा जल्दी.. 



दर्शक :- याद नहीं आ रहा बे .. सब कुछ तो बता दिए,,, जन्मतिथि तुम्ही बताओ ,,, बड़का पंडित बने फिरते हो .. हमको फोन करने का शौक थोड़ी चर्राया है .. थाने में बैठे हैं ,, FIR दर्ज करवाने .. दरोगा जन्म तिथि पूछ रहा है .... तुम जन्मतिथि से भविष्य बता सकते हो,,, तो फिर भविष्य से जन्मतिथि नहीं बता सकते ?.. पब्लिक को सूतिया बना रहे हो ..?? 


फोन कट !

:-)  :-)  :-)
 ---------------------------------------------------------------
The End
--------------------------------------------------------------- 
===================================================
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/889157367761229 ===================================================

बुधवार, दिसंबर 24, 2014

गजोधर की पत्नी गायब होने की रिपोर्ट :-)

गजोधर अपनी पत्नी के गायब होने की रिपोर्ट लिखवाने पुलिस स्टेशन गया 
 --- 
गजोधर :- मेरी वाईफ का कल से कुछ पता नहीं चल रहा है ... कल वो शापिंग के लिए गयी थी,,, 
उसके बाद से घर नहीं आयी ! 
--- 
इन्स्पेक्टर :- अपनी पत्नी के बारे में कृपया डिटेल बताएं ... उनकी हाईट क्या है ? 
--- 
गजोधर :- ओह ~~ शायद 5 फीट 
--- 
इन्स्पेक्टर :- देखने में कैसी हैं ...उनकी हेल्थ ? 
--- 
गजोधर :- दुबली ,,,,हेल्दी ,, आई मीन ज्यादा मोटी नहीं ,, 
--- 
इन्स्पेक्टर :- आँखों का रंग ? 
--- 
गजोधर :- हम्म ... कभी ध्यान नहीं दिया 
--- 
इन्स्पेक्टर :- बालों का रंग ? 
--- 
गजोधर :- समय-समय पर बालों का रंग चेंज करती रहती है 
--- 
इन्स्पेक्टर :- क्या पहने हुयी थीं ... उनकी ड्रेस ? 
--- 
गजोधर :- ड्रेस ?? हम्म...सलवार सूट ... ब्ल्यू जींस ,,,साड़ी ,, मुझे ठीक से याद नहीं 
--- 
इन्स्पेक्टर :- क्या वो कार से गयी थीं ? 
--- 
गजोधर :- जी हाँ 
--- 
इन्स्पेक्टर :- कौन सी कार थी ? 
--- 
गजोधर :- जर्मन मेड मर्सिडीज बेंज ए क्लास, 1.6 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन, 155ps और 250nm टोर्क, टू व्हील ड्राइव, 7 स्पीड आटोमेटिक गियर, ग्राउंड क्लियरेंस 183mm, रंग नीला.... आगे के दायें शीशे पर एक खरोंच का निशान भी है 
--- 
--- 
इन्स्पेक्टर :- डोंट वरी सर ......... हम कार को खोज निकालेंगे 

:-)  :-)  :-)


--------------------------------------------------
The End
-------------------------------------------------- 
==================================================
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/879117055431927 ==================================================

गजोधर की होशियारी :-)

एक रात को पुलिस वालों ने शराब पी कर गाडी चलाने वालों को पकड़ने के लिए 
 एक बार के बाहर अपनी गाडी खड़ी कर ली। 
--- 
--- 
थोड़ी देर बाद जब बार बंद होने वाला था तो गजोधर बार से बाहर निकला और लड़खड़ाता हुआ अपनी गाडी की तरफ बढ़ने लगा। चलते-चलते गजोधर एक दम से गिर गया। फिर उठा और थोड़ा संभला और आगे बढ़ा। 
--- 
उसके बाद गजोधर ने अपनी जेब में से चाबी निकाली ... 3-4 गाड़ियों को चाभी लगाने के बाद उसे अपनी गाडी मिल गयी। गजोधर गाडी में बैठा और बड़ी मुश्किल से गाडी स्टार्ट की और चल पड़ा। 
--- 
जैसे ही गजोधर चला, पुलिस वालों ने उसके पीछे अपनी गाडी लगा ली और उसे रोक लिया। 
--- 
पुलिस वाले ने गजोधर को Breath Analyzer टैस्ट के लिए बाहर निकलने के लिए कहा। गजोधर झट से बाहर निकला। पुलिस वाले ने उसका टैस्ट किया लेकिन टैस्ट में शराब की मात्रा आई ही नहीं। पुलिस वाले हैरान हो गए और पूछा कि इसका क्या राज़ है ? 
--- 
--- 
गजोधर ने पुलिस को बताया कि उसने तो शराब पी ही नहीं है। 
--- 
पुलिस वाले : "फिर तुम ऐसे क्यों नाटक कर रहे थे?" 
--- 
--- 
गजोधर : "ताकि आप मेरे पीछे आ सको और पीछे से बार में बैठे सारे शराबी आसानी से निकल सकें।" 

:-)  :-)  :-)
---------------------------------------------------
The End
---------------------------------------------------
  ==================================================
फेसबुक लिंक 
 https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/871400736203559 ==================================================

गजोधर की अंग्रेजी स्पेलिंग प्राब्लम

गजोधर :- (फोन पर) ... जल्दी से यहाँ एक एम्बुलेंस भेज दीजिये, 
 मेरे दोस्त को एक गाडी ने टक्कर मार दी है। उसके नाक से खून बह रहा है। 
शायद उसकी टांग भी टूट गयी है। 
--- 
ऑपरेटर :- आप किस जगह पर हैं कृपया वो बता दीजिये। 
--- 
गजोधर :- Connaght Place में। 
--- 
ऑपरेटर :- आप मुझे कृपया स्पेलिंग बता दीजिये ? 
--- 
आगे से कोई आवाज़ नहीं आई। 
--- 
ऑपरेटर :- सर क्या आपको मेरी आवाज़ आ रही है ? 
--- 
दूसरी तरफ से अभी भी कोई आवाज़ नहीं आई। 
--- 
ऑपरेटर :- सर प्लीज, जवाब दीजिये, क्या आप मुझे सुन पा रहे हैं ? 
--- 
--- 
गजोधर :- (हाँफते हुए)... हाँ- हाँ माफ़ करना भैया ,,,,  मुझे Connaght Place की स्पेलिंग नहीं आती थी ,,, इसलिए मैं उसे घसीट कर Minto Road पर ले आया हूँ ,,, आप Minto Road की स्पेलिंग लिखो। 
--------------------------------------------
The End
-------------------------------------------- 
====================================================
फेसबुक लिंक 
https://www.facebook.com/prakash.govind/posts/862855247058108 =====================================================